indian cinema heritage foundation

Teen Bahuraniyan (1968)

  • LanguageHindi
Share
205 views

रिटायर्ड स्कूल मास्टर दीनानाथ अपने तीन लड़के और उनकी बहुओं के साथ सुखी जीवन बिता रहे थे। इस बीच में सिनेमा स्टार शीला देवी उनके पड़ोस में आकर रहने लगी। उसकी शान और रहन सहन के ढंग से आकर्षित होकर दीनानाथ के तीनों लड़के और बहूरानियाँ झूठी शान और दिखावे में पड़कर उसकी देखादेखी अपने आप को भी अमीर बताने लगे। दीनानाथ की उन्हें समझाने की कोशिशे बेकार रहीं।

और एक दिन बहूरानियों के नाम एक गुमनाम चिट्ठी आई जिससे उनपर बिजली गिर पड़ी।

उस गुमनाम चिट्ठी को लिखनेवाला कौन था? उस चिट्ठी में क्या लिखा था? और उस चिट्ठीने दुखी परिवार में कैसे फिर से बहार ला दी?

इन सवालों के दिलचस्प जवाब आप परदे पर देखिये।

(From the official press booklet)